UPSC Topper Shurti Sharma: चार साल की मेहनत से बनी UPSC टॉपर, पढ़ें श्रुति शर्मा की सफलता की कहानी

0
40

UPSC Topper Shurti Sharma 2021: श्रुति शर्मा सेंट स्टीफंस कॉलेज, दिल्ली और जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय की पूर्व छात्रा हैं। जानकारी के मुताबिक, उन्होंने जामिया मिलिया इस्लामिया आवासीय कोचिंग अकादमी में यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी की थी।

संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) ने सिविल सेवा 2021 परीक्षा का परिणाम जारी कर दिया है। परीक्षा परिणाम में टॉप-3 में सिर्फ लड़कियां ही शामिल हैं। प्रथम स्थान – श्रुति शर्मा, द्वितीय स्थान – अंकिता अग्रवाल, तृतीय स्थान – गामिनी सिंगला, चौथा स्थान – ऐश्वर्या वर्मा। उम्मीदवार यूपीएससी की ऑफिशियल वेबसाइट upsc.gov.in पर जाकर अपना रिजल्ट चेक कर सकते हैं.

UPSC Topper 2021 Shurti Sharma: टॉपर बनीं श्रुति शर्मा

उत्तर प्रदेश के बिजनौर की रहने वाली श्रुति शर्मा ने यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा में प्रथम स्थान प्राप्त कर परिवार का नाम रौशन किया है. परिणाम पर प्रत्यक्ष प्रतिक्रिया देते हुए, श्रुति शर्मा अपनी सफलता का श्रेय उन सभी को देती हैं जो इस यात्रा में उनके साथ रहे हैं। उन्होंने अपने परिवार और दोस्तों का शुक्रिया अदा किया है जिन्होंने हर समय उनका साथ दिया।

UPSC Topper 2021 Shurti Sharma: जेएनयू से पढ़ीं है श्रुति 

श्रुति शर्मा सेंट स्टीफंस कॉलेज, दिल्ली और जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय की पूर्व छात्रा हैं। जानकारी के मुताबिक, उन्होंने जामिया मिलिया इस्लामिया आवासीय कोचिंग अकादमी में यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी की थी। उन्होंने बताया कि इस सफलता को हासिल करने के लिए उन्हें कड़ी मेहनत और धैर्य की जरूरत है।

UPSC Topper 2021 Shurti Sharma: आईएएस बनना चाहती हैं

श्रुति शर्मा ने बताया कि वह परिणाम से हैरान हैं। वह पिछले चार साल से सिविल सर्विसेज की तैयारी कर रही थी। श्रुति शर्मा का सपना आईएएस बनने का है। वह भारतीय प्रशासनिक सेवा में शामिल होना चाहती है।

जामिया से कर रही थी तैयारी

उत्तर प्रदेश के बिजनौर की रहने वाली श्रुति शर्मा जामिया मिलिया इस्लामिया आवासीय कोचिंग अकादमी (आरसीए) से सिविल सर्विसेज की तैयारी कर रही थी। आरसीए को विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) द्वारा वित्त पोषित किया जाता है ताकि अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और अल्पसंख्यक जैसी श्रेणियों से संबंधित छात्रों को मुफ्त कोचिंग और आवासीय सुविधाएं प्रदान की जा सकें। जामिया के एक अधिकारी ने बताया है कि कोचिंग अकादमी के 23 छात्रों ने सिविल सेवा परीक्षा पास की है.

इतने उम्मीदवारों ने पाई सफलता

संघ लोक सेवा आयोग द्वारा जारी परिणाम के अनुसार इस परीक्षा में कुल 685 उम्मीदवारों का चयन किया गया है. आईएएस, आईपीएस और आईएफएस के पदों पर चयन के लिए संघ लोक सेवा आयोग द्वारा हर साल सिविल सेवा परीक्षा आयोजित की जाती है।

दूसरी रैंक पाकर बहुत खुश हूं : अंकिता

अकादमी से ही फोन पर बात करते हुए अंकिता ने कहा कि मैं दूसरी रैंक पाकर बहुत खुश हूं। मैंने आईएएस चुना है और सेवा में शामिल होने के बाद महिला सशक्तिकरण, प्राथमिक स्वास्थ्य और स्कूली शिक्षा क्षेत्रों के लिए काम करना चाहता हूं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here