इस राज्य में एमबीबीएस की पढ़ाई हिंदी में होगी, इसी सत्र से हिंदी भाषी उम्मीदवारों का सपना पूरा होगा.

0
16

MBBS : अब हिंदी भाषी छात्रों के लिए डॉक्टर बनने का सपना पूरा करना आसान हो जाएगा। आजादी के 75 साल बाद मध्य प्रदेश में एमबीबीएस कोर्स में हिंदी भाषा शिक्षा का वैकल्पिक माध्यम बनने जा रही है। सितंबर अंत से शुरू हो रहे नए शैक्षणिक सत्र से इस कवायद को लागू किया जा सकता है। ऐसा करने वाला मध्यप्रदेश देश का पहला राज्य होगा।

राज्य चिकित्सा शिक्षा विभाग के एक अधिकारी ने रविवार को बताया कि नए शैक्षणिक सत्र में निजी और सरकारी मेडिकल कॉलेजों के एमबीबीएस प्रथम वर्ष के कुल चार हजार छात्रों को अंग्रेजी के साथ-साथ हिंदी की किताबों से भी पढ़ाई का विकल्प मिल सकता है. संबंधित समिति के सदस्य एवं फिजियोलॉजी के पूर्व एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. मनोहर भंडारी ने बताया कि प्रदेश में एमबीबीएस कोर्स में प्रवेश लेने वाले 60 से 70 प्रतिशत छात्र हिंदी माध्यम से हैं.

किताबें तैयार : चिकित्सा शिक्षा विभाग के अधिकारी ने कहा कि एमबीबीएस प्रथम वर्ष के लिए अंग्रेजी के तीन स्थापित लेखकों की पहले से चल रही किताबों को हिन्दी में अनुवाद करने का काम लगभग पूरा हो चुका है। नए सत्र से ये किताबें विद्यार्थियों को मिल सकती हैं।

READ MORE

मबीबीएस की पढ़ाई हिंदी में भी कर सकेंगे
मध्य प्रदेश में सितंबर सत्र से हो सकता है लागू
1. मध्य प्रदेश हिन्दी भाषा में एमबीबीएस की पढ़ाई कराने वाला पहला राज्य होगा

2. पहले वर्ष के छात्रों के लिए किताबों के अनुवाद का काम लगभग पूरा

3. राज्य में मेडिकल की पढ़ाई अंग्रेजी में भी पहले की तरह जारी रहेगी

4. सीएम शिवराज सिंह चौहान ने इंदौर में गणतंत्र दिवस के दिन इसकी घोषणा की थी

READ MORE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here